Welcome to Aum-e-Cart!

Mahabharatam (महाभारत)

More Views

Mahabharatam (महाभारत)
₹900.00

Availability: In stock

इस पुस्तक में आप अपने प्राचीन गौरवमय इतिहास की, संस्कृति और सभ्यता की, ज्ञान-विज्ञान की, आचार-व्यवहार की झांकी देख सकते हैं।


अनुवादक, सम्पादक एवं टिप्पणिकर्ता


स्वामी जगदीश्वरानन्द सरस्वती


संकरण: 2015

Description

Details

महाभारत धर्म का विश्वकोश है। व्यास जी महाराज की घोशणा है कि जो कुछ यहां है, वही अन्यत्र है, जो यहां नहीं है वह कहीं नहीं है। इसकी महत्ता और गुरुता के कारण इसे पन्चम वेद भी कहा जाता है। लगभग 16000 श्लोकों में सम्पूर्ण महाभारत पूर्ण हुआ है।श्लोकों का तारतम्य इस प्रकार मिलाया गया है कि कथा का सम्बन्ध निरन्तर बना रहता है। इस पुस्तक में आप अपने प्राचीन गौरवमय इतिहास की, संस्कृति और सभ्यता की, ज्ञान-विज्ञान की, आचार-व्यवहार की झांकी देख सकते हैं। यदि आप भ्रातृप्रेम, नारी का आदर्ष, सदाचार, धर्म का स्वरुप, गृहस्थ का आदर्ष, मोक्ष का स्वरुप, वर्ण और आश्रमों के धर्म, प्राचीन राज्य का स्वरुप आदि के सम्बन्ध में जानना चाहते हैं। ते एक बार इस ग्रन्थ को पढ़ें।

Reviews

Product Tags

Use spaces to separate tags. Use single quotes (') for phrases.